Udhayanidhi Stalin का सिर कलम करने पर 10 करोड़ का इनाम!, इस पर उदयनिधि ने कसा तंज

जब से तमिलनाडु सरकार के मंत्री Udhayanidhi Stalin का विवादित  बयान आया है,विवादित बयान में Udhayanidhi Stalin ने कहा था कि ‘सनातन का बस विरोध नहीं किया जाना चाहिए, इसे समाप्त कर देना चाहिए, यह धर्म सामाजिक न्याय और समानता के खिलाफ है, हम डेंगू मलेरिया या कोरोना जैसी बीमारियों का विरोध नहीं करते, हम इसे मिटाते हैं। इसी तरह हमें सनातन को भी मिटाना है।

Udhayanidhi Stalin के बयान का भारतीय राजनीति में बहुत विरोध चल रहा है, अपने इस बयान को लेकर उदय निधि स्टालिन लगातार चर्चा में बने हुए हैं, एक न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश के एक पुजारी ने उदय निधि स्टालिन का सिर कलम करने पर 10 करोड़ का इनाम देने का ऐलान किया है। इस पर उदयनिधि स्टालिन ने तंज कसा है और कहा कि ‘इसके लिए ₹10 का करूंगा ही काफी है ।भाजपा भी लगातार Udhayanidhi Stalin  के इस विवादित बयान पर अपना आक्रामक रुख अपनाए हुए हैं और इसे लेकर विपक्षी गठबंधन पर भी निशाना साध रही है।

‘हम ऐसी धमकियों से नहीं डरते’

Udhayanidhi Stalin ने कहा है कि ‘हमारे लिए ऐसी धमकियां कोई नई बात नहीं है ,हम उन लोगों में से नहीं हैं जो ऐसी धमकियों से डर जाए, मैं उस कलाकार का पोता हूं जिसने तमिल के लिए अपना सिर रेलवे ट्रैक पर रख दिया था’ आपको बता दें कि उदय निधि स्टर्लिंग तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन के बेटे और द्रविड़ राजनीति के दिग्गज एम करुणानिधि के पोते हैं। तमिलनाडु के पांच बार मुख्यमंत्री रहे एम करुणानिधि के ही बैरियर के बाद तमिलनाडु राज्य में ब्राह्मण विरोधी विचारधारा का झंडा बुलंद किया था।
साल 1953 में जब तमिलनाडु के गांव का नाम मशहूर उद्योगपति परिवार डालमिया के नाम पर रखा जा रहा था तो एम करुणानिधि ने ही इसका विरोध किया था। विरोध प्रदर्शन के दौरान एम करुणानिधि के नेतृत्व में डीएम के कार्यकर्ता रेलवे ट्रैक पर लेट गए थे,Udhayanidhi Stalin  ने भी अपने बयान में घुसी घटना का जिक्र किया है, उदय निधि स्टालिन ने हाल ही में एक कार्यक्रम के दौरान सनातन धर्म की तुलनाडेंगू, मलेरिया से की थी और कहा था ,कि अब सनातन धर्म को खत्म हो जाना चाहिए।
इसी बयान को लेकर भाजपा ने स्टालिन पर तीखा हमला बोला और आरोप लगाया है कि स्टालिन हिंदुओं के जनसंहार की बात कर रहे हैं भाजपा ने स्टालिन के बयान के लिए विपक्षी गठबंधन पर भी निशाना साधा हुआ है।

‘₹10 का कंगा ही काफी’ बोले Udhayanidhi Stalin

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में तपस्वी छावनी मंदिर के मुख्य पुजारी परमहंस आचार्य ने उदय निधि स्टालिन के बयान से नाराज होकर कहा है ‘ जो कोई भी Udhayanidhi Stalin का सिर कलम करके मुझे लाकर देगा मैं उसे ₹100000000 का इनाम दूंगा। अगर किसी ने उदय निधि को मारने की हिम्मत नहीं है, तो मैं खुद उसे ढूंढ कर उसे मार डालूंगा’।
इसी पर तंज करते हुए, जब चेन्नई के एक  कार्यक्रम में Udhayanidhi Stalin से इसको लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि ‘वह मुझे सनातन धर्म पर बात करने के लिए फिर के बाल सवारने को 10 करोड़ रुपए देंगे, इसके लिए ₹10 का कंगा ही काफी है ।बता दें कि तमिल भाषा में सिर सेव करने का मतलब बाल सवारना भी होता है ,यही वजह है कि उदयनिधी स्टालिन ने कहा है कि इसके लिए ₹10 ही काफी है।

खड़गे ने भी दिया विवादित बयान

कांग्रेस अध्यक्ष मलिकार्जुन खड़गे के बेटे और कर्नाटक सरकार में मंत्री प्रियंक खड़गे ने भी कहा कि कोई भी धर्म जो समानता को बढ़ावा नहीं देता ,मानव की गरिमा सुरक्षित नहीं करता वह धर्म नहीं है जो धर्म समान अधिकार नहीं देता या इंसानों जैसा व्यवहार नहीं करता वह बीमारी के समान है।

क्या गठबंधन को होगा नुकसान!

महाराष्ट्र में शिवसेना इसके विरोध में उतर आई है, पश्चिम बंगाल में भी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि सभी धर्मों का सम्मान किया जाना चाहिए। बीजेपी ने राज्य में भी इसे लेकर अलग-अलग राज्यों में इंडिया गठबंधन में शामिल पार्टियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। बीजेपी बिहार में जेडीयू और आरजेडी के खिलाफ से मुद्दा बना रही है ।विपक्षी गठबंधन में शामिल पार्टियां अब बैकफुट में नजर आ रही है।

ये भी जानें-

ISRO के इस मिशन पर दुनिया की नज़र,आप भी जाने इसकी खासियत

SSC Stenographer 2023:10+2 के लिए आई कई क्षेत्रों में नौकरियां, बस करना होगा आवेदन

Chandrayaan-3 का प्रोपल्शन मॉड्यूल से अलग हुआ विक्रम लैंडर

Seema Haider निभाएंगी राॅ एजेंट का किरदार!

ऑनलाइन जॉब का ऑफर कर उड़ाए 37 लाख 

Gyanvapi Survey Case : हाई कोर्ट आज सुना सकता है बड़ा फैसला

आइटीआर फाइल करने की तारीख बढ़ सकती है या नहीं?

सीमा-अंजू से प्रेरित होकर नाबालिक लड़की ने किया ऐसा काम

तेजी से फैल रहा है आई फ्लू इंफेक्शन, जाने लक्षण और बचाव के तरीके

Leave a Comment