अक्षय कुमार बने भारत के नागरिक, कैसे मिलती है Indian citizenship? जाने की पूरी खबर

बॉलीवुड के जाने वाले ऑप्शन अक्षय कुमार को Indian citizenship मिल गई है, अब तक उनके पास कनाडा की नागरिकताथी। जिससे उनकी कई जगह आलोचनाएं भी होती थी।अब जब अक्षय को Indian citizenship मिल गई है, तो इस ब्लॉग में हमजानते हैं कि किसी व्यक्ति को Indian citizenship कैसे मिलती है? और नागरिकता मिलने के बाद व्यक्ति को क्याक्या फायदे सरकार द्वारा दिए जाते हैं?

अक्षय कुमार को कनाडा की नागरिकता होने के कारण उनको कई बार आलोचना का सामना करना पड़ा ।बॉलीवुड एक्टर अक्षयकुमार को अब भारतीय जनता मिल रही है अक्षय कुमार ने मंगलवार को सोशल मीडिया पर Indian citizenship मिलने का ऐलान किया।अपना सिटीजनशिप सर्टिफिकेट शेयर करते हुए अक्षय ने लिखादिल और दोनों हिंदुस्तानी

आपको बता दें कि साल 2019 मेंअक्षय कुमार ने जब वोट नहीं दिया ,तब उनकी कराई नागरिकता को लेकर बवाल हुआथा,उसके बाद अक्षय ने बताया कि उन्होंने भारतीय पासपोर्ट के लिए आवेदन किया अक्षय कुमार ने एक बार बताया था कि1990 के दशक मेंउनका करियर बुरे दौर से गुजर रहा था, उनकी लगातार कई फिल्में फ्लॉप हुई,तब उन्होंने कनाडा कीनागरिकता के लिए आवेदन कर दिया थाबरहाल अब जब अक्षय कुमार दिल और नागरिकता से हिंदुस्तानी बन गए हैं ,तो जानतेहैं कि अगर किसी व्यक्ति को Indian citizenship प्राप्त करनी है तो वह कैसे प्राप्त कर सकता है? इसके लिए कौनकौन सीशर्तें और नियम होते हैं?

Indian Citizenship प्राप्त करने का कानून

भारत में नागरिकता लेने और रद्द करने को लेकर 1955 में एक कानून लाया गया।इस कानून में अब तक कई बार संशोधन होचुका है। इस कानून के तहत एक व्यक्ति को केवल एक देश का नागरिक होना चाहिए अर्थात इस कानून में एकल नागरिकताका प्रावधान है यानी भारत का नागरिक किसी और देश का नागरिक नहीं हो सकता।

Indian citizenship कानून को लेकर कई प्रावधान है जिसमें पहला प्रावधान जन्म से ही नागरिकता है इसके मुताबिक 26 जनवरी 1950 के बाद भारत में जन्मा कोई भी व्यक्ति भारत का नागरिक है ,इसमें एक प्रावधान यह भी है कि 1 जुलाई 1987 के बाद जन्मा कोई भी व्यक्ति भारतीय नागरिक है बशर्ते उसके जन्म के समय माता या पिता में से कोई एक भारत का नागरिकहोना चाहिए।

इस कानून के तहत अगर किसी व्यक्ति का जन्म भारत के बाहर हुआ हो लेकिन उसके जन्म के समय माता या पिता में से कोईएक भारत का नागरिक हो तो वह भी भारतीय नागरिक होगा हालांकि इसमें एक साथ यह भी है कि विदेश में जन्मे बच्चे कारजिस्ट्रेशन साल भर के अंदर भारतीय दूतावास में करवाना होगा।

भारतीय नागरिकता कानून के तहत यदि किसी व्यक्ति को भारत की नागरिकता प्राप्त करनी है तो उसे कम से कम 11 साल तकभारत में रहना होगा।

Indian Citizenship मिलने से अक्षय कुमार को क्या फायदा?

2019 के लोकसभा चुनाव में कनाडा की नागरिकता के कारण अक्षय वोट नहीं डाल सके थे लेकिन अब 2024 के चुनाव में वहवोट डाल सकेंगे।

संविधान के तहत Indian Citizen भारत में चुनाव लड़ सकता है अब अगर अक्षय कुमार चाहे तो वह कहीं से भी चुनाव लड़सकते हैं।

अभी तक कनाडा नागरिकता की वजह से अक्षय कोई संवैधानिक पद प्राप्त नहीं कर सकते थे लेकिन नागरिकता मिलने के बादअब यह बाध्यता उनके ऊपर से हटा दी गई है अब वह किसी भी संवैधानिक पदको प्राप्त कर सकते हैं।

राज्य या फिर केंद्र सरकार की ओर से चलने वाली योजनाओं और कार्यक्रम का लाभ केवल भारतीय नागरिक ही ले सकते हैंयदि अक्षर कुमार को सरकारी योजना का लाभ प्राप्त करना है तो वह आसानी से सरकारी योजनाओं का लाभ ले सकते हैं।

भारतीय संविधान के तहत भारतीय नागरिक को कुछ मौलिक अधिकार मिले हुए हैं, अब बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमारमौलिक अधिकारों का फायदा भी ले सकते हैं।

Indian Citizenship कानून में 2019 में हुआ था संशोधन

भारतीय नागरिकता अधिनियम में अब तक कुल 6 बार संशोधन किया गया है यह संशोधन 1986 1942 2003 2005 2015 और 2019 में किए गए थे संविधान के अनुच्छेद 11 में नागरिकता के विषय में कानून बनाने का अधिकार संसद को दियागया है भारतीय नागरिकता के लिए विदेशी व्यक्ति ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं आवेदन के लिए आपको नए मंत्रालय कीवेबसाइट पर आवेदन फॉर्म को भरना होगा और सभी जरूरी दस्तावेज को अपलोड कर शुल्क जमा करना होता है।

2019 में नागरिकता कानून में संशोधन हुआ इस संशोधन के बाद पाकिस्तान बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अल्पसंख्यकशरणार्थियों को नागरिकता मिलने का समय 11 साल से कम कर कर 6 साल कर दिया गया इस संशोधन के बाद उन तीनों देशोंसे आए हिंदू सिख जैन बौद्ध पारसी और ईसाई धर्म को मानने वाले शरणार्थियों को भारत की नागरिकता लेने के लिए कम सेकम अब 6 साल भारत में रहना अनिवार्य होगा।

FAQ

Que.. कौनकौन भारतीय नागरिक होते हैं?

Ans… नागरिकता नियम 1955 के अनुसार यदि किसी व्यक्ति का जन्म 26 जनवरी 1950 या इसके बाद किंतु 1 जुलाई1987 से पहले हुआ है वह भारतीय नागरिक होंगे यदि उनके मातापिता किसी अन्य देश के नागरिक हैं या नागरिक थे तो इसकाभारत में 26 जनवरी 1950 को या इसके बाद किंतु एक जुलाई 1987 से पहले दिन में व्यक्तियों की नागरिकता पर कोई प्रभावनहीं पड़ेगा।

Que.. क्या कोई व्यक्ति भारत में दो नागरिकता प्राप्त कर सकता है?

Ans. यदि कोई व्यक्ति भारत में 2 देशों की नागरिकता प्राप्त करना चाहता है तो भारत किसी भी व्यक्ति को दोहरी नागरिकताप्रदान नहीं करता है यानी कोई व्यक्ति भारत के साथ किसी अन्य देश की नागरिकता नहीं ले सकता।

Que.. भारतीय नागरिकता को कैसे प्राप्त कर सकते हैं?

Ans. अब भारतीय नागरिकता लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको भारतीय नागरिकता एक्ट 1955 के बारे में पूर्ण जानकारीहोनी चाहिए नागरिकता को कई आधार पर प्राप्त किया जा सकता है जैसे आप जन्म के आधार पर पंजीकरण कराकर वंशानुगतया देश के कारण द्वारा नाश्ता ले सकते हैं।

Leave a Comment