Nuh Violence : हिंसा के बाद गरजा बुलडोजर, तोड़ी गई दुकाने

Nuh Violence हरियाणा के नूंह में शनिवार को प्रशासन का बुलडोजर चलाया गया। शहर में अवैध निर्माण से बने मकानों और दुकानों को ढहाया जा रहा है। प्रशासन का कहना है कि अवैध निर्माण से जिनकी संपत्ति है वह गिराए जा रहे हैं।  इनमें कई लोग हिंसा में शामिल थे, जिनकी प्रशासन द्वारा शनिवार को अवैध दुकानें तोड़ी गई हैं।

Nuh Violence : हिंसा के बाद गरजा बुलडोजर, तोड़ी गई दुकाने
Nuh Violence : हिंसा के बाद गरजा बुलडोजर, तोड़ी गई दुकाने

हरियाणा में  Nuh Violence  से माहौल में तनाव है,इस बीच जिला प्रशासन ने एक बार फिर अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाया है। आपको बता दें कि शनिवार को नूंह में shkm  गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज के पास अवैध दुकानें तोड़ी गई हैं, इससे पहले गुरुवार को रोहिंग्याओ की 200 झुग्गियां बुलडोजर द्वारा तोड़ी गई थी।

इसके साथ ही अवैध कब्जे भी खाली कराए जा रहे हैं।  शनिवार की सुबह से ही नूंह प्रशासन की टीम मल्हार मंदिर के रास्ते में स्थित अस्पताल के सामने पहुंचे जहां अवैध कब्जों को हटाने का काम शुरू कर दिया गया।  शहर में लगातार अवैध निर्माणों पर बुलडोजर चलाने से अवैध निर्माण करने वाले लोगों के बीच हड़कंप मच गया है।

न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार यह कार्रवाई डिस्टिक टाउन प्लानर NUH द्वारा कराई जा रही है। लगभग 40 दुकानें अवैध हैं, जिन्हें तोड़ा जा रहा है। यह वह जगह है जहां 31 जुलाई को हिंसा भड़कने के बाद गाड़ियां जलाई गई थी और लोगों द्वारा पत्थरबाजी भी हुई थी। नूंह  में शनिवार को नए गांव,  सिंगार, बिसरू,डुडोली पिंगवा,फिरजोपुर में भी प्रशासन द्वारा बुलडोजर चलाया गया। अधिकारियों का कहना है कि यहां से सभी अवैध कब्जे हटाए जाएंगे। जिसके लिए प्रशासन द्वारा शनिवार सुबह से ही अवैध निर्माणों पर बुलडोजर चल रहा है।

सीएम के आदेश पर एक्शन

नूंह  के SDM अश्विनी कुमार ने बताया कि सीएम के आदेश पर कार्रवाई हुई है।  जिन दुकानों और  संपत्तियों पर बुलडोजर से कार्रवाई हुई है,वह सभी अवैध निर्माण हैं साथ ही दंगों में भी यह लोग शामिल थे,इसलिए सीएम के आदेश पर कार्रवाई की जा रही है।  वहां मौजूद अधिकारियों के मुताबिक अवैध कब्जे की जमीन खाली करवाई जा रही है। इससे पहले शुक्रवार को स्थानीय प्रशासन ने चार जगहों पर बुलडोजर चलाकर अवैध निर्माणों को हटवाया था।

रोहिंग्या की 200 झुग्गियां पर कार्रवाई

पुलिस ने तावडू रोहिंग्याओं और अवैध घुसपैठियों के अवैध कब्जे पर बुलडोजर चलाया गया था। बताया जा रहा है कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की जमीन पर  रोहिंग्याओं अवैध कब्जा किए हुए थे। पुलिस ने गुरुवार को 200 से अधिक झुग्गियां को गिरा दिया। बुलडोजर द्वारा कार्रवाई करीब 4 घंटे तक चली।  सूचना के अनुसार बताया जा रहा है कि इन झुग्गियों में बांग्लादेश के काफी लोग अवैध तरीके से रह रहे थे साथ ही इन लोगों में कई लोग हिंसा में भी शामिल थे।

सोशल मीडिया से लोगों को भड़काया

नूंह  के अलावा फरीदाबाद में तीन, गुरुग्राम में, पलवल में 18, रेवाड़ी में तीन FIR दर्ज की गई है। पुलिस ने सोशल मीडिया पर प्रसारित किए गए 232 वीडियो की पहचान की है। पुलिस का मानना है कि इन्हीं वीडियो में हिंसा को उकसाने में अहम भूमिका निभाई। 

नूंह पर बोले हरियाणा के गृहमंत्री

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का कहना है कि इस हिंसा के पीछे एक बहुत बड़ा गेम प्लान है। लोग मंदिरों के बगल की पहाड़ियों पर चढ़ गए, उनके हाथों में लाठियां थी और एंट्री पॉइंट पर इकट्ठा हुए, यह सब पहले से तैयार योजना के बिना संभव नहीं था।  उपद्रवियों ने गोलियां चलाई, और आग लगाई जिससे पता चलता है कि इस घटना में कुछ लोगों ने हथियारों की भी व्यवस्था कर रखी थी बिना पूरी जांच के हम जल्दी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचेंगे।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज का कहना है कि अभी तक कुल 102 एफ आई आर दर्ज की गई हैं।  जिसमें 202 लोगों को गिरफ्तार किया गया है,  80 लोग हिरासत में है हमें जानकारी मिल रही है कि गोलीबारी की घटना  साजिश के तहत की गई थी, जिसमें लोगों द्वारा पत्थर एकत्र किए गए थे घरों और पहाड़ियों पर जाकर गोलीबारी की, इन सभी विषय के बारे में हम जानकारी एकत्र कर रहे हैं। जो भी इस घटना में जिम्मेदार होगा उस पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही जरूरत पड़ने पर बुलडोजर भी चलाया जाएगा। 

नूंह की हिंसा पर बोले मुख्यमंत्री खट्टर

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है और प्रदेश की जनता से शांति बनाए रखने की अपील की है।  मुख्यमंत्री ने उपद्रवियों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं उन्होंने कहा है: ‘ आज की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है, मैं सभी लोगों से प्रदेश में शांति बनाए रखने की अपील करता हूं, दोषी लोगों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने केंद्र सरकार से मदद मांगी है और इसकी पूरी जानकारी भी केंद्र सरकार को दी गई है। 

ये भी जानें-

Seema Haider निभाएंगी राॅ एजेंट का किरदार!

ऑनलाइन जॉब का ऑफर कर उड़ाए 37 लाख 

Gyanvapi Survey Case : हाई कोर्ट आज सुना सकता है बड़ा फैसला

आइटीआर फाइल करने की तारीख बढ़ सकती है या नहीं?

सीमा-अंजू से प्रेरित होकर नाबालिक लड़की ने किया ऐसा काम

तेजी से फैल रहा है आई फ्लू इंफेक्शन, जाने लक्षण और बचाव के तरीके

Leave a Comment