Pmkusum: इस योजना से कमाए लाखों रुपए,जल्द उठाएं लाभ

केंद्र सरकार द्वारा किसानों के लिए कई तरह की योजनाएं चालू की जाती है, ऐसी ही एक योजना Pmkusum योजना है जिसके तहत किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारी जा सकती है, किसानों  की फसल बर्बाद होने के बाद वह आर्थिक तंगी से जूझा करते हैं ,जिसके बाद वह, आत्महत्या जैसे आत्मघाती कदम उठा लेते हैंइसी को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा Pmkusum योजना Pradhan Mantri Kusum Yojna लॉन्च की गई है, इस योजना के तहत अन्नदाताओं को आर्थिक स्थिति सुधारने का प्रयास किया गया है.

Pmkusum योजना के तहत किसानों की भूमि पर सोलर प्लांट लगाया जाता है ,जिसके लिए सरकार द्वारा 90% तक की सब्सिडी दी जाती है,किसान भाइयों को मात्र 10% ही देना होता है

इस पोस्ट में हम आपको प्रधानमंत्री कुसुम योजना Pradhan Mantri Kusum Yojna  के बारे में सारी जानकारी देने वाले हैं ,जैसे प्रधानमंत्री कुसुम योजना की फुल फॉर्म क्या है? Pradhan Mantri Kusum Yojna क्या है?,प्रधानमंत्री कुसुम योजना क्या है?PMKusum Yojna Online Ragistration कैसे करें? तथा इसकी सब्सिडी किस तरह से प्राप्त होती हैआदि सभी सवालों के जवाब आपको इस पोस्ट में मिल जाएंगे तो कृपया इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।

Pradhan Mantri Kusum Yojna full form

प्रधानमंत्री कुसुम योजना की फुल फॉर्म किस ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाअभियान (Kisan Urja Suraksha Evam Utthaan Mahaabhiyan) है.

Pradhan Mantri Kusum Yojna क्या है?

प्रधानमंत्री कुसुम योजना Pmkusum के तहत किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने का एक प्रयास है ,इस योजना के तहत डीजल पेट्रोल से चलनेवाले पंपों को सौर ऊर्जा पंप में बदलने का कार्य शुरू किया गया हैसाथ हीइस सौर ऊर्जा प्लांट के तहत किसान भाई प्लांट से उत्पन्न होने वाली बिजली को सरकार को बेचकर साल के लाखों रुपए कमा सकते हैं।

इस योजना की घोषणा पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली जी द्वारा की गई थी किसानों को सिंचाई का एक अच्छा माध्यम देने के लिएप्रधानमंत्री कुसुम योजना की शुरुआत की गई है सरकार द्वारा योजना के लिए 34422 करोड रुपए का प्रावधान दिया गया है

मिलेगी 90 % की सब्सिडी

Pmkusum योजना में उम्मीदवार किसानों को 90% तक की सब्सिडी दी जाती है।जिसमें 60% केंद्र सरकार की तरफ से तथा 30% बैंक द्वारा सब्सिडी दीजाती है ,किसान भाइयों को मात्र 10% का भुगतान करना होता है जिसके बाद वह अपना सोलर प्लांट  लगवा सकते हैं.

उत्तर प्रदेश के लिए आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करें 

अनेक क्षेत्रों में सुधार

वर्ष 2015 में पहले जलवायु समझौते में की गई अपनी प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए भारत सरकार ने वर्ष 2030 तक गैर जीवाश्मईंधन सोटो से स्थापित विद्युत क्षमता का 40% हासिल करने के लिए विभिन्न नीति बनाई है।

किसानों को ऊर्जा और जल सुरक्षा प्रदान करने और उनकी आर्थिक स्थिति को बढ़ाने खेती के क्षेत्र में डीजल से मुक्त करने तथा पर्यावरण प्रदूषण को कम करने के लिए केंद्र सरकार ने 19 फरवरी 2019 को पीएम कुसुम योजनाको लांच किया था ,इस योजना केतीन घटक शामिल है।

घटक

घातक में दो मेगावाट तक की क्षमता के लघु सौर विद्युत संयंत्रों की स्थापना करके कल 10000 मेगावाट सौर क्षमता बढ़ाना है.

घटक

इसमें 20 लाख स्टैंड अलोन सौर विद्युत कृषि पंपों की स्थापना

घटक

15 लाख वर्तमान ग्रेड संबंध कृषि पंप का सॉरी कारण

प्रधानमंत्री कुसुम Pmkusum योजना का उद्देश्य

प्रधानमंत्री कुसुम योजना Pmkusum का उद्देश्य किसानों को सौर ऊर्जा पंप लगाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है ,कई ऐसे राज्य हैं जहां पानी की कमी की वजह से फसल खराब हो जाती है या किसानों के पास ऐसी भूमि है ,जिस पर वह खेती नहीं कर सकते उनकी भूमि बंजर है ,ऐसे किसानों के लिए केंद्र सरकार ने पीएम कुसुम योजना Pmkusum लॉन्च की गई है इस योजना के तहत किसान भाई अपने खेत मेंसोलर प्लांट लगा सकते हैं.

किसने की इन्हीं समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार द्वारा सोलर पैनल लगवाए जाएंगे इन सोलर पैनलों द्वारा बिजली का निर्माण भी होगाजिसका इस्तेमाल किस अपने खेत घर तथा अतिरिक्त बिजली को सरकार को बेच सकते हैं जिससे वह घर बैठे आसानी से पैसे कमासकते हैं और अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सकते हैं.

आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

Pmkusum योजना में आवेदन करने के लिए कुछ दस्तावेज की ज़रूरत होती हैं यदि आप आवेदन करते है तो आपके पास ये सभी दस्तावेज होने चाहिए।

  • Aadhaar Card
  • Recent Clicked Photo
  • Identity Proof
  • Raashan Card
  • Ragistration Copy
  • Authorization Proof
  • Bank Passbook
  • Land Papers
  • Mobile Number

PMKusum Yojna एक लाभ कैसे लें?

प्रधानमंत्री कुसुम Pmkusum योजना का लाभ लेने के लिए आपको सबसे पहले अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा.व्यक्तिगत किसान,सहकारिताओं ,पंचायत या किसान उत्पादक संगठनों द्वारा इस योजना का लाभ लिया जा सकता है।

PMKusum Yojna Online Ragistration कैसे करें?

इस योजना के ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी सेवा केंद्र या अपने लैपटॉप कंप्यूटर से pmkusum.mnre.gov.in  की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

  1. वेबसाइट पर जाने के बाद आपको सबसे पहले एक चेतावनी दी जाती है जिसमें आपको पीएम कुसुम योजना के तहत होने वाले फर्जीबड़े के लिए सावधान किया जाता है और बताया जाता है कि पीएम कि कुसुम योजना के नाम पर किसानों से ठगी की जा रही है औरऑनलाइन माध्यम से उनसे भुगतान किया जा रहा है।
  2. इसी योजना मेंआप किसी प्रकार का कोई ऑनलाइन भुगतान करें अगर कोई आपसे ऑनलाइन भुगतान करने के लिए कहता भी है तोआप उसकी कंप्लेंट कर सकते हैं.
  3. इसके बाद आपको लोन एप्लीकेशन इंटरेस्ट फॉर्म का सेटिंग अप सोलर प्लांट अंदर पीएम किसान कंपोनेंट पर क्लिक करना होगा.
  4. आपको एक फॉर्म भरना होगा जिसमें सोलर प्लांट एंड कनेक्टिविटी डिटेल भरनी होगी.
  5. फॉर्म भरने के बाद आपको कैप्चर डालकर सबमिट करना होगा.
  6. आवेदन फॉर्म भरने के 90 दिन के अंदर आपके पास पीएम कुसुम योजना के ऑफिस से कॉल आएगी और सारी जानकारी दी जाएगीयदि कोई आपसे ऑनलाइन भुगतान की मांग करता है तो भूल कर भी यह गलती ना करें.

बिजली बेचकर करें लाखों की कमाई

पीएम कुसुम योजना के तहत आपके खेत में लगाया गया सोलर प्लांटके द्वारा उत्पन्न होने वाली बिजली को आप सरकार को भेज सकतेहैं और महीने के लाखों रुपए आराम से घर बैठे कमा सकते हैं.

PMKusum Yojna से क्याक्या लाभ?

कभी भी कर सकते हैं सिंचाई

किसानों को खासकर रात्रि के दौरान बिजली मिलती है इससे उन्हें केवल काफी असुविधा होती है बल्कि इसके कारण जल की बर्बादीभी होती है क्योंकि पंप को एक बार शुरू करने के बाद चालू ही छोड़ दिया जाता है पीएम कुसुम योजना के तहत सिंचाई के लिए सौरऊर्जा प्रदान किए जाने से किसानों को निश्चित तौर पर दिन के समय बिजली उपलब्ध होगी इसके लिए सिंचाई में आसानी होगी औरकिसान भाई जब चाहे अपने खेत की सिंचाई कर सकते हैंजल तथा विद्युत के अति उपयोग को भी रोका जा सकेगा.

बढ़ेगी किसने की आमदनी

किसने की आमदनी बढ़ाना सरकार की सबसे महत्वपूर्ण नीति में से एक है इस उद्देश्य के लिए पीएम कुसुम योजना के तहत महंगे डीजलके स्थान पर काम खर्चेली सौर ऊर्जा की स्थापना की जाएगी और साथ ही किसानों को अपने सोलर प्लांट द्वारा उत्पन्न की गई विद्युत कोसरकार को बेचने का मौका भी दिया जाएगा जिससे वहलाखों रुपए कमा सकते हैं.

पर्यावरण के लिए लाभकारी

भारत में स्थापित लगभग 3 करोड़ कृषि पंपों में से तकरीबन 80 लाख डीजल पंप है वर्ष के दौरान इस पंपों की कुल डीजल खपत 14.4 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड के बराबर उत्सर्जन के साथ प्रति वर्ष 5.52 बिलियन लीटर होती है

पीएम कुसुम योजना से पूरी तरह से कार्यान्वित होने पर इसे प्रति वर्ष 32 मिलियन टन तक के बराबर कार्बन उत्सर्जनों में कमी आएगीइसके अलावा जिन किसानों के डीजल पंप बदले जाएंगे वह अपने खेतों में प्रदूषण मुक्त वातावरण में कम कर सकेंगे.

pmkusum योजना की अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें 

ये भी जानें-

SSC Stenographer 2023:10+2 के लिए आई कई क्षेत्रों में नौकरियां, बस करना होगा आवेदन

Chandrayaan-3 का प्रोपल्शन मॉड्यूल से अलग हुआ विक्रम लैंडर

Seema Haider निभाएंगी राॅ एजेंट का किरदार!

ऑनलाइन जॉब का ऑफर कर उड़ाए 37 लाख 

Gyanvapi Survey Case : हाई कोर्ट आज सुना सकता है बड़ा फैसला

आइटीआर फाइल करने की तारीख बढ़ सकती है या नहीं?

सीमा-अंजू से प्रेरित होकर नाबालिक लड़की ने किया ऐसा काम

तेजी से फैल रहा है आई फ्लू इंफेक्शन, जाने लक्षण और बचाव के तरीके

Leave a Comment